वाराणसी। प्रधानमंत्री के स्वच्छता ही सेवा 2019 अभियान की देश व्यापी शुरुआत पर उनके संसदीय क्षेत्र में भी लोगों ने इसकी शुरुआत की। जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह ने कलेक्ट्रेट में खुद इस अभियान की शुरुआत की कमान संभाली और सरकारी कर्मचारियों और वकीलों के सहयोग से झाड़ू लगाया साथ ही कूड़ा भी उठाया। कलेक्ट्रट स्थित कार्यालयों में भ्रमण कर साफ़ सफाई पर विशेष ध्यान देने की बात कही साथ ही जहां गन्दगी दिखी वहां खुद ही साफ़ की और मातहतों को नसीहत दी।

कलेक्ट्रट कार्यालय में की सफाई
जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह ने प्रधानमंत्री के स्वच्छता ही सेवा कार्यक्रम का आज वाराणसी में शुभारम्भ किया। जिलाधिकारी ने सुबह दस बजे कलेक्ट्रेट कार्यालय में भ्रमण कर सभी पटलों पर मेज, कुर्सी, कम्प्यूटरों पर पड़ी धूल साफ करने का निर्देश अधिकारियों व कर्मचारियों को देते हुए स्वयं सफाई करके सबको अपने आसपास साफ सुथरा वातावरण रखने का संदेश दिया। इस दौरान कम्प्युटर सीपीयू और डेस्क बार पर लगी धूल को खुद साफ़ किया।

विज्ञापन
Loading...

वकीलों संग लगाया झाड़ू, उठाया कूड़ा
कचहरी परिसर में अधिकारियों, कर्मचारियों व बार कौंसिल के पदाधिकारियों के साथ जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह झाड़ू लगा कर लोगों को स्वच्छता रखने का सबक दिया। इस दौरान उन्होंने स्वयं से कूड़ा उठाकर डस्टबीन में फेका साथ ही अपने कार्यालय की छत पर फेकि गयी कोल्डड्रिंक की बोतलों को स्वयं उठाकर कूड़ेदान में डाला।

पूरे जनपद में चल रहा है कार्यक्रम
जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह ने बताया कि यह कार्यक्रम अब लगातार चलेगा और मेरे द्वारा स्वयं इसकी मॉनिटरिंग और समीक्षा की जाएगी। यह कार्यक्रम जनपद के सभी वार्डों, तहसीलों, ग्राम पंचायतों में हर जगह चल रहा है। उन्होंने बताया कि ये अभियान तब तक चलता रहेगा जबतक बाहर से आने वाल यह न कहने लगे कि बनारस शहर एक साफ सुथरा शहर है। ग्रामीण क्षेत्रों में तालाबों, पोखरों, झील, नाली तथा जल प्लशन वाली सभी जगहों पर सफाई अभियान चलाया जा रहा है।

कूड़ा मुक्त ज़ोन का होगा चयन
जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद में सभी कम्यूनिटि की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए व्यापारी संगठनों, सामाजिक संगठनों, एनजीओ,विभिन्न संस्थाओं, स्कूल कालेजों सहित सिविल डिफेंस को भी जिम्मेदारी दी गई है। शहर में ऐसी जगहों को चिन्हित किया जा रहा है जिनको कूड़ा मुक्त क्षेत्र घोषित किया जाएगा।

जीवन में लानी होगी स्वच्छता
डीएम ने कहा कि शहर में जो लोग कूड़ा फेंक रहे हैं उनको पहले टोकेंगे फिर रोकेंगे और उसके बाद नहीं माने तो उनपर जुर्माना ठोकेंगे। उन्होंने कहा कि स्वचछता जब तक दैनिक जीवन का हिस्सा और हमारी सोच का हिस्सा नहीं बन जाता तब तक स्वच्छता अभियान सफल नहीं होगा।

देखिये तस्वीर 

Loading...