वाराणसी। विगत कई वर्षों से चली आ रही वाराणसी स्थायी हज हाउस की मांग अब साकार होती दिख रही है। प्रधानमंत्री के प्रवासी दिवस सम्मेलन में वाराणसी आने पर भाजपा अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ की मीडिया प्रभारी हुमा बानों ने मुलकात कर उनसे स्थायी हज हाउस की मांग करते हुए एक मांग पत्र सौंपा था। सबका साथ-सबका विकास का नारा देने वाले प्रधानमंत्री ने यह आग्रह स्वीकार कर लिया है और 5 तारीख को इस मांग पर शासन ने संज्ञान ले लिया है।

विज्ञापन
Loading...

इस सम्बन्ध में हुमा बानों ने बताया कि प्रदेश के मुख्य सचिव अल्पसंख्यक कल्याण और मुस्लिम वक्फ एवं हज ने जिलाधिकारी वाराणसी को एक लेटर लिखा है और उनसे इस पत्र के माध्य से कहा है कि अतिशीघ्र वाराणसी हवाई अड्डे के निकट कोई उपयुक्त सरकार भूखंड जिसका क्षेत्रफल 3 से 5 एकड़ का हो चिन्हित कर शासन को प्रस्ताव भेजें।

बता दें की पूरे भारत में सबसे अधिक हज ज़ायरीन उत्तर प्रदेश से जाते हैं। इन हज यात्रियों की उड़ान दिल्ली, लखनऊ और वाराणसी से होती है। वाराणसी में चौकाघाट स्थित संस्कृति संकुल में हज ज़ायरीनों के लिए अस्थायी हज हाउस बनाया जाता है। इस हज हाउस में कई सारी दिक्कतों का सामना ऐसे में हज यात्रियों को करना पड़ता है। इसलिए बार बार हज हाउस की मांग उठती रही है।

Loading...