वाराणसी। काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के रस शास्त्र एवं भैषज्य कल्पना विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो आनन्द चौधरी 11 सितम्बर को पांच दिवसीय शैक्षणिक यात्रा पर जर्मनी के लिए रवाना होंगे।

प्रो आनन्द चौधरी ब्रिस्टिन में रोजेनबर्ग यूरोपियन अकादमी ऑफ़ आयुर्वेद के तत्वाधान में आयोजित 21 वें अन्तर्राष्ट्रीय आयुर्वेद संगोष्ठी में आमन्त्रित वक्ता के रूप में भाग लेंगें।

विज्ञापन
Loading...

इस संगोष्ठी में वह आयुर्वेदीय औषधि शिलाजीत के चिकित्सकीय गुणों से यूरोप के चिकित्साविदो का परिचय करायेंगे। यात्रा आहार, विहार एवं पाचन की अनियमितता से उत्पन्न व्याधियों में शिलाजीत एवं इसके योगों के आयुर्वेदीय दिशा निर्देशों से अवगत कराना इस शैक्षणिक यात्रा का मुख्य उद्देश्यों में एक है।

Prof Anand K Chaudhary BHU

उल्लेखनीय है कि जर्मनी के इस अन्तर्राष्ट्रीय आयुर्वेद संगोष्ठी में भारत सरकार के आयुष मन्त्रालय के सचिव वैद्य राजेश कोटेचा के नेतृत्व में भारत से आयुर्वेद विशेषज्ञों का एक प्रतिष्ठित समूह यूरोप में आयुर्वेद के विभिन्न पक्षों पर व्याख्यान देगा।

ज्ञात है कि प्रो आनन्द चौधरी ने 21-22  मई 2018  में भारत सरकार के आयुष मन्त्रालय के प्रतिनिधि मंडल का नेतृत्व बैंकाक में आयोजित बिम्सटेक देशो के समूह की आयुर्वेदीय बायो रिसोर्सेस की संगोष्ठी में किया था।

प्रो आनन्द चौधरी ने बताया कि वो जर्मनी के इस संगोष्ठी में महामना के द्वारा निर्देशित समेकित चिकित्सा पद्धति को सन्दर्भित करते हुये अपना व्याख्यान प्रस्तुत करेंगें।

Loading...